Wednesday, August 31, 2011

अमृता के जन्म दिन पर .......

अमृता का जन्मदिन है ...वह अमृता जिसकी आत्मा का इक-इक अक्षर हीर के ज़िस्म में मुस्कुराता है ...जिसकी इक-इक सतर हीर की तन्हा रातों में संग रही है ... ये नज़्म मेरी उसी अमृता को समर्पित है ....
पर उससे पहले आपसे दो खुशखबरियाँ सांझा करना चाहूंगी ....
एक तो 'द सन्डे- इन्डियन ' विकली ( संपा. अरविन्द्र चौधरी ) में वर्ष २०११ की सर्वश्रेष्ठ महिला लेखिकाओं (लगभग ५०० प्रतिभागियों में )में हमारा नाम भी शुमार है ....
दुसरे आज के ही दिन 'हिंद-युग्म' ऑन लाइन मेरे काव्य-संकलन 'दर्द की महक' का विमोचन भी कर रहा है .....



यहाँ क्लिक कर आप हिंद-युग्म के विमोचन समारोह में भी पहुँच सकते हैं ....

अमृता के जन्म दिन पर .......


आज ...
ये कब्र कैसे खुल गई ...?
ये किसने मिट्टी का लेप कर
मुझे ज़िंदा कर दिया ....?
ये किस समुन्दर की प्यास थी
जो मिट्टी में दरार पड़ी ...?
दर्द और आंसुओं की इक आवाज़
उतर आई आज की तारीख में
इश्क की कोख में ज़ुहूर हुआ
रौशनी का इक कण
आकार ले उठा
आग की शक्ल में ...
खुदा की इक इबादत
अक्षरों की धड़कन बन गई
आज ये कब्र कैसे खुल गई .....?


ज़ुहूर- उत्पन्न

(इस बीच इस खुशखबरी के साथ एक दुखद समाचार भी मिला
हमारे ब्लोगर मित्र डॉ अमर कुमार जी अब नहीं रहे ... उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि .....)



(

78 comments:

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार said...

हीर जी

*जन्मदिवस की हार्दिक बधाई और मंगलकामनाएं !*


*Happy Birth Day To You !*

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

जन्मदिन कि हार्दिक शुभकामनायें ...

वर्ष २०११ की सर्वश्रेष्ठ महिला लेखिका और काव्य-संकलन 'दर्द की महक' के लिए बहुत बहुत बधाई ...

अमृता जी को समर्पत पंक्तियाँ मन को छू गयीं ..

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

बधाई ...शुभकामनायें

वाणी गीत said...

बहुत बधाई और शुभकामनायें!

केवल राम : said...

बधाई हो ..बधाई हो ...बधाई हो ......!

केवल राम : said...

आपको जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनायें .....!

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

बधाई हो... बहुत बहुत..

ताऊ रामपुरिया said...

अमॄता जी के जन्म दिन, सर्वश्रेष्ठ महिला लेखिकाओं में शामिल होने और काव्य संकलन "दर्द की महक" के विमोचन पर हार्दिक बधाईयां और शुभकामनाएं. अति प्रसन्नता अनुभव हो रही है.

रामराम.

ताऊ रामपुरिया said...

और खुशी खुशी में ये तो भूल ही गया कि तिहरी खुशी पर मिठाई तो बनती है.:)

रामराम.

डॉ टी एस दराल said...

जन्मदिन पर दो और खुशखबरियां ! आज तो मालामाल हो गए जी ।
सर्वश्रेष्ठ लेखिका तो आप हैं ही । और जन्मदिन भी अमृता जी के साथ साँझा । बल्ले बल्ले !

जन्मदिन की हार्दिक बधाई और शुभकामनायें हीर जी ।
काव्य संकलन के विमोचन पर भी बधाई ।
क्षणिका भी बहुत पसंद आई ।

S.M.HABIB (Sanjay Mishra 'Habib') said...

जन्मदिन, वर्ष २०११ की सर्वश्रेष्ठ महिला लेखिकाओं में शुमार होने और 'हिंद-युग्म' ऑन लाइन मे काव्य-संकलन 'दर्द की महक' के विमोचन की त्रिवेणीबेला पर सादर बधाईया स्वीकार करें...

ब्लॉ.ललित शर्मा said...

जन्म दिन की हार्दिक शुभकामनायें.......

प्रवीण पाण्डेय said...

आपको जन्मदिन की बहुत शुभकामनायें।

अमित श्रीवास्तव said...

जन्मदिन की बहुत बहुत शुभकामनाएँ......

संजय भास्कर said...

जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनायें

संजय भास्कर said...

बधाई बधाई बधाई.....जन्मदिवस की हार्दिक बधाई

संजय भास्कर said...

आदरणीय हरकीरत जी जन्मदिन की हार्दिक बधाई और शुभकामनायें ।

शिवम् मिश्रा said...

आपको जन्मदिन की बहुत बहुत हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं ... साथ साथ ईद मुबारक !

देवेन्द्र पाण्डेय said...

सभी खुशियाँ एक साथ आईं...
जन्म दिवस की हार्दिक शुभकामना और बधाई।
आज तो आपके ब्लॉग से खुशियों की बरसात हो रही है! कविता भी बहुत अच्छी है।

ashish said...

हीर और अमृता दोनों को ही पढना अमृत रसपान जैसा है . जन्म दिन ही हार्दिक शुभकामनाये . वर्ष की सर्वश्रेष्ठ महिला कवियत्री चुने जाने और काव्य संकलन का विमोचन पर मेरी बधाई स्वीकार करें

यादें said...

बधाई,बधाई बधाई ....!!!
जितना जी चाहे जियो ...
खुश और स्वस्थ रहो!

अरूण साथी said...

sudar ehsas

Happy Birth Day To You

रंजना [रंजू भाटिया] said...

बहुत बहुत बधाई आपको ....आपका जीवन यूँ ही महकता रहे खुशियों से ..

वन्दना said...

आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
प्रस्तुति आज के तेताला का आकर्षण बनी है
तेताला पर अपनी पोस्ट देखियेगा और अपने विचारों से
अवगत कराइयेगा ।

http://tetalaa.blogspot.com/

Khushdeep Sehgal said...

तद ही कवां आज सवेर दा भंगड़ा पाण दा जी क्यों करदा पया वे...

हीर जी नू जन्मदिन दियां लख लख बधाईयां...

जय हिंद...

Sawai Singh Rajpurohit said...

आपकी मनोकामना पूर्ण हो .. जनमदिन पर हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ!!

Sawai Singh Rajpurohit said...

वर्ष २०११ की सर्वश्रेष्ठ महिला लेखिका और काव्य-संकलन 'दर्द की महक' के लिए बहुत बहुत बधाई हो.

रजनीश तिवारी said...

बहुत ही सुंदर और प्रभावशाली रचना...बधाई एवं हार्दिक शुभकामनायें

Anand Dwivedi said...

दर्द और आंसुओं की इक आवाज़
उतर आई आज की तारीख में
इश्क की कोख में ज़ुहूर हुआ
रौशनी का इक कण
आकार ले उठा
आग की शक्ल में ...
खुदा की इक इबादत
अक्षरों की धड़कन बन गई
हीर जी !
कई सारी खुशियों के साथ एक टीस भी ! सबसे पहले सर्वश्रेष्ठ लेखिका चुने जाने कि बधाई स्वीकार कीजिये| तदुपरांत जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं || और अब टीस की बात जिन प्रेम की देवी का आपने पहले जिक्र किया है ना हीर जी उनका नाम एक मीठा सा दर्द का पर्याय है मेरे लिए !!
हमेशा की तरह आपकी एक और अप्रतिम कविता ...और हमेशा की तरह मुझे आज फिर आपकी चौखट से कुछ मिला |

दीपक बाबा said...

वर्ष २०११ की सर्वश्रेष्ठ महिला लेखिका

हमारी हार्दिक बधाई स्वीकार करे.

nilesh mathur said...

बहुत बधाई आपको ।

शाहिद मिर्ज़ा ''शाहिद'' said...

बधाईयां :)

रश्मि प्रभा... said...

bahut bahut badhaai... naam aur sangrah ke liye... aur imroz ke hote amrita kahan jayengi

हरकीरत ' हीर' said...
This comment has been removed by the author.
हरकीरत ' हीर' said...

रश्मि जी आपको भी बधाई
आपका नाम भी तो शुमार है वहाँ .....

उमेश महादोषी said...

एक साथ कई अवसर........ ढेर सारी शुभकामनाएं. प्रेम और पीड़ा का दूसरा नाम थीं अमृता जी. आपके रचनात्मक व्यक्तित्व में निसंदेह अमृता जी मौजूद हैं. प्रेम तो स्वयं महान है और पीड़ा व्यक्ति को महानता का रास्ता दिखाती है. आप उस रास्ते पर हैं, ईश्वर आपको अमृता जी जैसा ही महान बनाये.........
डॉ अमर कुमार जी को हार्दिक श्रद्धांजलि !

kumar said...

जन्मदिन की ढेरों बधाइयाँ...

रचना भी बहुत खूबसूरत है...हमेशा की तरह....

www.kumarkashish.blogspot.com

kumar said...
This comment has been removed by the author.
daanish said...

हीर जी

*जन्मदिवस की हार्दिक बधाई और मंगलकामनाएं !*


*Happy Birth Day To You !*

काव्य संकलन के शुभ विमोचन के लिए
शुभकामनाएं ...

सर्व श्रेष्ठ महिला लेखिका की उपाधि मिलने पर
बहुत बहुत बधाई .


बरसों,,,
बरसों बीत जाने पर भी
अमृता के दिलो-दिमाग़ का साहिर
कहाँ रोक पाया इमरोज़ को
अमृता को चाहते रहने से
इबादत करते रहने से
अमृता ,
अमृता ही रही
बस अपनी ही तरह की अमृता ...
और इमरोज़
अमृता हो गया ....

इमरोज़ के लिए भी मुबारकबाद !!

चंद्रमौलेश्वर प्रसाद said...

अमृता प्रीतम जी की स्मृति में इस सुंदर कविता के लिए बधाई। डॉ. अम्रर कुमार जी को विनम्र श्रद्धांजलि॥

सुमन'मीत' said...

janamdin ki hardik shubhkamnayen

Anil Avtaar said...

Kinka Janmdin aur kinki mrityu.. acci kriti aur acchhe rachiyeta humare rooh tak bas jate hain,, Aabhar...

G.N.SHAW said...

जन्म दिन की हार्दिक शुभकामनाएं !
डाक्टर अमर जी को बिनम्र श्रधांजलि !

इमरान अंसारी said...

अमृता जी के जन्मदिन पर शानदार तोहफा है ये,..........अमर जी को हमारी भी श्रद्धाजलि

RAJWANT RAJ said...

aapko our aapke pure priwaar ko meri trf se aapke jnmdin our beshumaar kamyabiyo pr bhut sari bdhaiya.
prmatma aapki sari ichchhaye puri kre .likhti rhiye , muskurati rhiye ,khush rhiye .

आशा जोगळेकर said...

जन्मदिन पर अनेक शुभ कामनाएँ । आपकी लेखनी यूं ही परवान चढे । आप को बहुत बधाई हीर जी । दर्द की महक प्रकाशन पर और २०११ की सर्वश्रेष्ठ महिला लेखिका के सम्मान के लिये ।
अमृता जैसी लेखिकाओं का दर्द आप ही जान सकती हैं ।

Avinash Chandra said...

ढेरों शुभकामनाएँ आपको

kumar zahid said...

अमृता का जन्मदिन जिसकी आत्मा का इक-इक अक्षर हीर के ज़िस्म में मुस्कुराता है
'द सन्डे- इन्डियन ' विकली २०११ की सर्वश्रेष्ठ महिला लेखिकाओं में हीर का नाम भी शुमार है ....
'हिंद-युग्म' ऑन लाइन मेरे काव्य-संकलन 'दर्द की महक' का विमोचन भी कर रहा है .....


बीजी ,
इन चारों उपलब्धियों के लिए आपको ढेरों मुबारकबाद

मुबारकों के ढेर में कहीं ना छुप जाना
ज़रा सा सिर निकालकर हमें भी दिख जाना

अरुण कुमार निगम (mitanigoth2.blogspot.com) said...

कुछ विलम्ब से ही सही- जन्म दिवस की शुभ-कामनायें. अमृता जी को भाव-भीनी पुष्पांजलि.

सदा said...

बहुत-बहुत बधाई के साथ शुभकामनाएं ।

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार said...

#


# आदरणीय दराल साहब !

आपको हीरजी की पिछली पोस्ट पर मुझसे पूछे गए 'ऐंद्रजालिक' शब्द का अर्थ अब मिल गया न ?




आपको याद ही होगा - हीर जी ने कहा था -
शायद अगली बार कुछ तस्वीरें पेश करूँ ,

आप-हमको बहला दिया , हमें भ्रम में डाल दिया , सम्मोहित कर दिया , हम पर ज़ादू-इंद्रजाल कर दिया ,

… और इनकी नई पोस्ट में आपको तस्वीरें नज़र आईं ?

और इतने सारे - सौभाग्य से दिल ख़ुश करने के बहाने दे दिए कि किसी को पिछली पोस्ट में ख़ुद इनके अपनेआप किए वादे के बारे में पूछना तक याद नहीं रहा … :))

हीर जी ने उलझा दिया न सबको इंद्रजाल में !!

रब्ब से दुआ है हीर जी नित नई सफलताएं पाएं … , पग पग पर इन्हें कामयाबियां मिलें , … और आप-हम में अपनी ख़ुशियों का ख़ज़ाना ये ऐसे ही बांटती रहें … आमीन !



और हमारा क्या है !
हम तो इनके फ़न की ऐंद्रजालिक शक्ति के आगे यूं ही नत मस्तक हैं …


बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं हीर जी !

डॉ टी एस दराल said...

राजेन्द्र भाई , आप तो वास्तव में स्वर्णकार हो ।
एन्द्रजालिक शक्ति आपकी टिप्पणियों में भी उतनी ही दिखती है जितनी हीर जी की रचनाओं में ।
कभी कभी दानिश जी भी एन्द्रजालिक टिप्पणी करते हैं ।:)

कौशलेन्द्र said...

सर्द ग़मों की बर्फ से ढँकी उत्तुंग शिखर वाली सर्वश्रेष्ठ रचनाकारा जी ! बधाई देने वालों में मेरी भी हाजिरी लगा लीजिएगा. आपकी उपलब्धियों पर हम अपनी खुशी कैसे ज़ाहिर करें......! सोचना पडेगा ! तब तक कुछ मीठा हो जाय ? अच्छा चलिए मेरी तरफ से एक कप मीठी चाय बना के पी लेना. शक्कर के पैसे मेरे हिसाब में जोड़ दीजिएगा. अगली बार आऊँगा तब चुका दूंगा.
हाँ ! एक राज की बात मैं भी बता दूं...किसी से कहिएगा मत . अमृता और हीर के दिलों की धड़कनों में गज़ब की हार्मोनी है. क्या ? आपको भी सुनना है ..... आँखें बंद कीजिये फिर ध्यान से सुनिए ......लुब-डुब.....लुब-डुब.....लुब-डुब

हरकीरत ' हीर' said...

राजेन्द्र जी ,

यह जान कर खुशी हुई कि किसी को तो इन्तजार था तस्वीरों का ...:))
दरअसल मुझे मिली ही नहीं ..कल शायद सी डी मिले तो अगली बार लगा दूंगी
आपका ये इंद्रजाल तो मैं भी नहीं समझ पाई थी ....

दर्शन कौर said...

देर से ही सही पर अपनी छोटी बहन को जनम दिन की मुबारकवाद तो दे ही सकती हूँ ...चाहे वो भूल गई पर मुझे वो आज भी याद हें ...उसकी मुस्कुराती तस्वीर मेरे मानसपटल पर आज भी अंकित हें और रहेगी...सदा !
तिहरी खुशियाँ तुझे मुबारक हो ! हम तो युही जी लेंगे ..हमारा क्या ?

Suman said...

bahut bahut subhkamanyen.........

प्रेम सरोवर said...

अनृता के जन्म दिन पर प्रस्तुत कविता का भाव अच्छा लगा । आपको बधाई । भगवान से विनती रहेगी कि आप नित्य नए प्रतिमानों को स्पर्श करती गहें । धन्यवाद ।

सुशील बाकलीवाल said...

देरी से ही सही, मेरी भी दोनों खुशियों के मौके पर शुभकामनाएँ स्वीकार करें ।

mahendra verma said...

जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाइयां एवं शुभकामनाएं।

aarkay said...

बहुत बधाई और शुभकामनायें!

Dr.Bhawna said...

Bahut khubsurat rachna bahut bahut badhai..

आशीष/ ਆਸ਼ੀਸ਼ / ASHISH said...

ਲੋ ਦੱਸੋ! ਕਿੱਦਾਂ ਖੁਲ ਗਯੀ?
ਹਰਕੀਰਤ ਜੀ,
ਸਤ ਸ੍ਰੀ ਅਕਾਲ!
ਸਾਡੇ ਲੇਵਲ ਦੇ ਬਿਯੋੰਡ ਹੈ!
--
ਮੈੰਗੋ ਸ਼ੇਕ!!!

Maheshwari kaneri said...

हीर जी ..

*जन्मदिवस की हार्दिक बधाई और मंगलकामनाएं !*
वर्ष २०११ की सर्वश्रेष्ठ महिला लेखिका और काव्य-संकलन 'दर्द की महक' के लिए बहुत बहुत बधाई ...

Sunil Kumar said...

जन्मदिन कि हार्दिक शुभकामनायें.....

Sujata said...

Very nice to see your post.

gs panesar said...

ਜਨਮ ਦਿਨ ਦੀਆਂ ਬਹੁਤ ਬਹੁਤ ਮੁਬਾਰਕਾਂ
....ਗੁਰਵਿੰਦਰ ਪਨੇਸਰ ਵਲੋਂ

Udan Tashtari said...

जन्मदिवस की हार्दिक बधाई और मंगलकामनाएं !


वर्ष २०११ की सर्वश्रेष्ठ महिला लेखिका और काव्य-संकलन 'दर्द की महक' के लिए बहुत बहुत बधाई

mahendra srivastava said...

देर से ही सही

बहुत बहुत शुभकामनाएं

रचना दीक्षित said...

हरकीरत जी ,
आपकी दोनों उपलब्धियों पर ढेरों बधाई.अमृता जी कि पंक्तियाँ दिल को छू गयीं

डॉ .अनुराग said...

नीले सूट वाली अमृता की दीवानी से अनुरोध है ..के इस की विडियो रिकोर्डिंग भी डाले .....

वृजेश सिंह said...

नमस्ते हकीरत हीर" जी. बहुत दिनों बाद आप लोगों कि रचनाएं पढ़ते हुए लग रहा है जैसे अपने पुराने दोस्तों से मिल रहा हूँ.
जन्मदिन की हार्दिक शुभकामना. जिंदगी में कई ऐसे मौके आते हैं,जब ख़ुशी और गम एक साथ आते हैं. ऐसे लम्हों में जिंदगी एक द्वन्द में फँस कर रह जाती है..

hasrete-parwaaz said...

kya aap facebook pe hain??? search me ajit dhankhar

manu said...

happy birth day heer ji...

kuchh late ho gayaa naa...?

Indranil Bhattacharjee ........."सैल" said...

सर्वश्रेठ लेखिका चुने जाने के लिए बधाई ...
अमृता जी के जन्मदिन पर लिखी आपकी यह कविता बहुत सुन्दर है !

मलकीत सिंह जीत said...

bahat ji bahut hi vadhiya rachnava ne sariya diyan sariya ki kariye u p vich baith ke panjabiyat to lagda hai thida door ho gaye han

Nagarjuna said...

Main to itni der se aaya hoon ki badhai dene mein bhi sharmeendagi mahsoos ho rahi hai. Fir bhi Janm din ki badhai qubool karein.

Yah kavita mujhe bahut pasand aayi...behad pasand aayi. Laga main hi kabr mein tha..lekin ise padhne ke liye hi nikal aaya...

CS Devendra K Sharma "Man without Brain" said...

janm diwas ki shubhkaamanyen...

sunder rachna...

प्रेम सरोवर said...

आपका पोस्ट अच्छा लगा । .मेरे नए पोस्ट पर आपका इंतजार रहेगा । धन्यवाद ।