Tuesday, March 26, 2013

उड़ा गुलाल ...........

 होली पर कुछ हाइकू ....

उड़ा गुलाल ...........

उड़ा गुलाल
फिर आसमान में
 आई रे होली  ..!

2

रंग -रंगोली
मन हुआ फागुनी
भांग की गोली

 रंग प्रेम का
मिल सारे रंग लो
भुला दो बैर ।


दगाबाज तू
खेलूँ न तुझ संग
बैरी मैं होरी  ..!
( एक अज़ीज़ मित्र के लिए )

मन रंग दे
तन रंग दे मोरा
आई रे होली  ..!॥


अखियाँ ढूंढें
तुझको, तुझ बिन
कैसी ये होली  ..?

मीत बिना, न
रंग सुहाए,सूनी
सूनी होली रे ..!


भीगी अखियाँ
भीगा है तुझबिन
मन होली में ।



भीगे - चूनर
गली -गली में खेले
नन्द किशोर 

34 comments:

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

बहुत सुन्दर हैं..

Kalipad "Prasad" said...

बहुत बढ़िया ,होली की शुभकामनाएं
latest post धर्म क्या है ?

सदा said...


भीगी अखियाँ
भीगा है तुझबिन
मन होली में ।
क्‍या बात है ... बहुत खूब

होलिकोत्‍सव की अनंत शुभकामनाएं

सादर

ranjana bhatia said...

वाह बहुत सुन्दर

महेन्द्र श्रीवास्तव said...

बढिया
होली मुबारक

Vibha Rani Shrivastava said...

होली की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ !!

Patali-The-Village said...

बहुत सुन्दर!

होली की शुभकामनाएं!

Amit Srivastava said...

वाह ! सुन्दर सुन्दर मन भावन भाव ।
होली की शुभकामनायें ।

Ashok Saluja said...

होली की शुभकामनाएं..:-D

vandana gupta said...

होली की महिमा न्यारी
सब पर की है रंगदारी
खट्टे मीठे रिश्तों में
मारी रंग भरी पिचकारी
ब्लोगरों की महिमा न्यारी …………होली की शुभकामनायें

vandana gupta said...

होली की महिमा न्यारी
सब पर की है रंगदारी
खट्टे मीठे रिश्तों में
मारी रंग भरी पिचकारी
ब्लोगरों की महिमा न्यारी …………होली की शुभकामनायें

Rajendra Kumar said...

होली की हार्दिक शुभकामनाएँ.

ताऊ रामपुरिया said...

बहुत सुंदर होली हाईकू हैं सभी के सभी. होली की हार्दिक शुभकामनाएं.

रामराम.

Anju (Anu) Chaudhary said...

होली मुबारक

shikha varshney said...

रंग प्रेम का
मिल सारे रंग लो
भुला दो बैर ।
सार्थक होली .
आपको रंगों भरा उत्सव शुभ हो.

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि-
आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल बुधवार के चर्चा मंच पर भी होगी!
सूचनार्थ...सादर!
--
आपको रंगों के पावनपर्व होली की हार्दिक शुभकामनाएँ!

डॉ टी एस दराल said...

तन रंग लो,
आज मन रंग लो ,
आई है होली ।

सुन्दर होलिकान हाइकु।

Naveen Mani Tripathi said...

अखियाँ ढूंढें
तुझको, तुझ बिन
कैसी ये होली

bahut khoob Heer ji ....

डॉ. मोनिका शर्मा said...

बहुत सुंदर हाईकू ... शुभ होली

jyoti khare said...

waah sunder haiku

आपको और आपके परिवार को
होली की रंग भरी शुभकामनायें

aagrah hai mere blog main bhi sammlit hon
aabhar

ब्लॉग बुलेटिन said...

ब्लॉग बुलेटिन की पूरी टीम की ओर से आप सब को सपरिवार होली ही हार्दिक शुभकामनाएँ !

आज की ब्लॉग बुलेटिन हैप्पी होली - ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

Khushdeep Sehgal said...

रंगोत्सव की आपको और आपके परिवार को बहुत-बहुत शुभकामनाएं...

जय हिंद...

ARUN SATHI said...

sundar ji
holi mubarak

प्रवीण पाण्डेय said...

सूरत भोली,
कैसे रंग दूँ,
चुभती होली।

दिगम्बर नासवा said...

होली ओर उके रंगों को भी बाँध दिया ... शब्दों में ... हाइकू में ...
गज़ब ... बधाई होप्ली की ...

Reena Pant said...

bahut sunder ...holi ki shubhkamnayein

Hitesh said...

बेहतरीन ! होली की शुभकामनायें !

Fani Raj Mani Chandan said...

Bahut sundar, holi ki haardik shubhkaamnyein :-)

Anupama Tripathi said...

विविध रंग होली के ...
बहुत सुन्दर हाइकु ...हरकीरत जी ...!!

शोभना चौरे said...

vah bahut achhi

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

बहुत सुंदर हाइकु ।

Onkar said...

सुन्दर हैकु

रचना दीक्षित said...

फागुनी भंग की गोली नहीं तमाम गोलियां जबरदस्त हैं.

surendrshuklabhramar5 said...

बहुत बढ़िया होली की शुभकामनाएं