Monday, October 1, 2012

' सरस्वती-सुमन 'का क्षणिका विशेषांक़

आप सब के लिए एक खुशखबरी .......

' सरस्वती-सुमन ' पत्रिका के जिस  अंक ( क्षणिका विशेषांक़ )अतिथि संपादन का कार्य  भार मैंने लिया था , वो पूरा हुआ और अब ये अंक छप कर तैयार है ...कुछ वक़्त जरुर लगा संपादन में ...वजह  प्रधान संपादक की सम्पादकीय में आप सब  जान ही जायेंगे ...इसमें ब्लॉग और फेस बुक से जुड़े बहुत से रचनाकारों की क्षणिकाएं  हैं ...करीब दो सौ रचनाकार इसमें शामिल हैं...सभी तो नहीं  कुछ नाम मैं यहाँ देने की कोशिश कर  रही हूँ ....क्योंकि मुझसे बार बार पूछा जाता हर है ..''अंक कब तक आयेगा '' .....तो आप सब की प्रतीक्षा समाप्त हुई ..अंक जल्द ही आपके पते पर पहुँच जाएगा .....मिठाई तैयार रखियेगा ......प्रतिक्रिया का भी इंतजार रहेगा  .....:))

विशेष आभार -- प्रधान  संपादक डॉ आनंद सुमन जी एवं जितेन्द्र जौहर जी का जो पग-पग पर मेरा सहयोग करते रहे .....

१. अपूर्व शुक्ल
२. अमिया कुंवर
३. अश्विनी कुमार
४. अनीता कपूर
५. अनवर सुहैल
६ अविनाश चन्द्र
७. अमिताभ श्रीवास्तव
८. अश्विनी राय प्रखर
९.अशोक ' दर्द '
१०. अशोक 'अंजुम'
११. ओम प्रकाश 'अडिग'
१२ अवधेश शुक्ल
१३. अरविन्द कुमार
१४ अशोक विश्नोई
१५ . अशोक 'अकेला'
१६ अमित कुमार 'लाडी'
१७ अदेले ग्राफ
१८. ओम प्रकाश सोनी
१९ अनंत आलोक
२० आनंद वर्धन ओझा
२१ . आलोक तिवारी
२२. आनंद द्रिवेदी
२३. इन्द्रनील भट्टाचार्जी
२४ इमरोज़
२५ उपेन्द्र नाथ
२६. ऍम.एल. वर्मा
२७. एस ऍम . हबीब
२८ ओमिश परूथी
२९ कैलाश चन्द्र शर्मा
३० किशोर कुमार जैन
३१. कमल कुमार जैन
३२ . केवल कृष्ण
३३. कुंवर प्रेमिल
३४ कन्हैया लाल अग्रवाल
 ३५. गौरी शंकर वैश्य
३६ गोपाल कृष्ण भट्ट 'आकुल'
३७. घमंडी लाल
३८. चित्रा सिंह
३९ चक्रधर शुक्ल
४० चेतन दुबे अनिल
४१ जितेन्द्र जौहर
४२. डॉ अनुराग आर्य
४३. डॉ अमरजीत कौंके
४३ . डॉ अरुण द्रिवेदी
४४. डॉ उमेश महादोषी
४५. डॉ कौशलेन्द्र मिश्र
४६.  डॉ केवल कृष्ण पाठक
४७.डॉ  कमलेश द्रिवेदी
४८. डॉ चरनजीत मान
४९ डॉ टी एस . दराल
५० डॉ सुमन शर्मा
५१. डॉ रमा द्रिवेदी
५२.डॉ  रमेश कटारिया 'पारस'
५३. डॉ स्याम शखा स्याम
५४. डॉ सुरेश 'उजाला'
५५. डॉ सुश्री शरद सिंह
५६. डॉ सोंरुपा
५७ डॉ सुशिल रहेजा
५८. दी के सचदेवा 'दानिश'
५९. दी ऍम मिश्र
६० दर्शन  दरवेश
६१ . देवेन्द्र शर्मा
६२. देवेन्द्र कुमार पांडे
६३. दिगंबर नासवा
६४. धर्मेन्द्र गोयल
६५. धर्मेन्द्र सिंह सेखों
६६. निलेश माथुर
६७. प्रियंका गुप्ता
६७. प्रेम चंद 'प्रेमी'
६८. बलराम अग्रवाल
६९. ममता किरण
 ७० मोहिन्दर कुमार
७१. महेंद्र वर्मा
७२. मीनू खरे
७३. मंजू मिश्रा
७४. महावीर रवांल्टा
७५. रश्मि प्रभा
७६. रामेश्वर कंबोज 'हिमांशु'
७७. रचना श्रीवास्तव
७८. रचना दीक्षित
७८. राजेन्द्र स्वर्णकार
७९ . रंजना रंजू भाटिया
८०. राजेन्द्र परदेशी
८१. राजवंत राज
८२. लखमी शंकर बाजपेयी
८३. वंदना गुप्ता
८४. विकेश निझावन
८५. विवेक रस्तोगी
८६. विजय तन्हा
८७. शोभा रस्तोगी
८८ . समीर लाल 'समीर '
८९. सुरजीत कौर
९०. स्वर्णजीत 'सवी'
९१. सुमन पाटिल
९२. स्वप्निल कुमार 'आतिश'
९३. सुनील गज्जाणी
९४.संगीता स्वरूप
९५. सीमा सिंघल
९६.सरस दरबारी
९७. सुधा ओम ढींगरा
९८. संदीप 'सरस'
९९. त्रिपुरारी शर्मा
१००. ज्ञानचंद मर्मज्ञ
एक अंतिम महत्वपूर्ण नाम जो छूट गया  था कीनिया की कवयित्री डॉ रनवीर कलसी का जो कि फेस बुक से जुडी हुई हैं .....
आप सभी को बहुत -बहुत बधाई .....!!

बाकी के नाम मिठाई खाने के बाद .....:)

53 comments:

सदा said...

सरस्‍वती सुमन के क्षणिका विशेषांक के प्रकाशन पर बधाई सहित अनंत शुभकामनाएं ...

Anupama Tripathi said...

बहुत बधाई एवं शुभकामनायें ....!!

यादें....ashok saluja . said...

हीर जी आपको,आपकी लगन को और आप की मेहनत को बधाई और शुभकामनायें !
कहते हैं कि अच्छा समय ,शुभ समाचार ,बधाई और आशीर्वाद जब भी मिले उसे ले लेना चाहिए ....
देर से ही सही ,मेरी भी बधाई और शुभकामनायें
स्वीकारें अपने जनम-दिन के लिये ........
कुछ भी मज़बूरी हो सकती है ,हम जैसों की????
अपने तजुर्बे से एक अर्ज़ आज मैंने भी की है
अपनी पोस्ट पर ....समय मिलने पर अर्ज़ पढ़ ले .....
आभार ! खुश और स्वस्थ रहें !

shikha varshney said...

आपको व सभी रचनाकारों को हार्दिक बधाई और असीम शुभकामनाएं.

vikas vashisth said...

ये अंक मिलेगा कैसे और कहां दिल्ली में

हरकीरत ' हीर' said...

यह अंक बहुत ही बेशकीमती है ....
जब मुक्तक विशेषांक निकला था तब भी बहुत मांग हुई थी क्योंकि किसी विधा पर इतना बड़ा विशेषांक कम ही निकलता है ...
मैं यहाँ प्रधान संपादक डॉ आनंद सुमन जी का मोबाईल न दे रही हूँ शामिल रचनाकारों के अलावा अगर किसी को पत्रिका चाहिए तो अपनी प्रति अभी सुरक्षित करवा लें .....09412009000

Rakesh Kumar said...

बहुत बहुत हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ हीर जी.

ज्ञानचंद मर्मज्ञ said...

आपके कुशल संपादन में सरस्वती सुमन, क्षणिका विशेषांक के प्रकाशन पर हार्दिक बधाई !

expression said...

बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं हीर जी....

सादर
अनु

देवेन्द्र पाण्डेय said...

आपकी मेहनत रंग लाई
बहुत-बहुत बधाई
मगर यह नहीं बताया कि अबतक
कितनी मिठाई खाई?
वैसे आपकी यह पोस्ट
बनारसी मिठाई
रसमाधुरी की तरह लग रही है।

mridula pradhan said...

badhayee ho....

daanish said...

patrika ka ek ank
mithaaee sahit bhijaaven ki
vyavasthaa kar deiN
to behtar rahegaa

प्रवीण पाण्डेय said...

निश्चय ही, बहुत ही सुन्दर प्रयास..

हरकीरत ' हीर' said...

daanish said...

patrika ka ek ank
mithaaee sahit bhijaaven ki
vyavasthaa kar deiN
to behtar rahegaa

ओये होए ....!

मेहनत हम करें मिठाई आप खाएं .....?????

Ramakant Singh said...

कोई संदेह नहीं खुबसूरत प्रयास

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

अच्छा लगा जानकर...इस विशेषांक के प्रकाशन पर बधाई.... शुभकामनायें

डॉ टी एस दराल said...

ये है असली लिस्ट . पूरे ब्लॉगजगत के श्रेष्ठ रचनाकार एक मंच पर देखकर मज़ा आ गया .
आपकी मेहनत की दाद देनी पड़ेगी . बड़ा हर्कुलियन टास्क था .
बेहतरीन संपादन के लिए बधाई .

रचना दीक्षित said...

बहुत सुखद समाचार. आखिर आपकी एक साल की मेहनत रंग लायी. ढेर सारी हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएँ हीर जी.

CS Devendra K Sharma "Man without Brain" said...

bahut bahut shubhkamnayen aur badhai

महेन्द्र श्रीवास्तव said...

शुभकामनाएं...


जब भी समय मिले, मेरे नए ब्लाग पर जरूर आएं..
http://tvstationlive.blogspot.in/2012/09/blog-post.html?spref=fb

Arvind Mishra said...

बधाई!

Saras said...

सहस्त्र बधाइयाँ हीर जी ...और हाँ शत शत आभार भी ....इस विशेषांक में स्थान देने के लिए

केवल राम : said...

" हीर " की कीर्ति हर तरफ फैले 'केवल' ......!

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

सूचित करने के लिए शुक्रिया .... इस पत्रिका के सम्पादन के लिए बधाई

कौशलेन्द्र said...

क्षणिका विशेषांक के लिये किये गये परिश्रम के एवज़ में मिठाइयों के जो टोकरे आपके पास तक पहुँचें....उनमें से कुछ इधर भी भिजवा दीजियेगा। जब से बस्तर में नकली खोये की ख़बर अख़बार वालों ने छापी है हमने मिठायी देखना भी बन्द कर दिया है। कई मिठाइयों की तो हम आकृति तक भूल गये। सभी पाठकों से सादर निवेदन है कि टोकरों का साइज़ जरा बड़ा रखियेगा।

Udan Tashtari said...

मिठाई तैयार है...चली आओ!!

हरकीरत ' हीर' said...

अब तक सिर्फ एक ही व्यक्ति दिलदार निकला
चढ़कर उड़न तस्तरी पर देख मेरा यार निकला ....:))

कौशलेन्द्र जी मिठाई न सही फल ही भिजवा देते .....:))

डॉ टी एस दराल said...


उड़न तस्तरी ने तो है बस बुलाया,
अपना तारीफ़ करना काम ना आया ! :)

छोडिये मिठाई विठाई
स्वीकार करिए बधाई .

Devendra Dutta Mishra said...

बहुत-बहुत बधाई।

Devendra Dutta Mishra said...

बहुत-बहुत बधाई।

Always Unlucky said...

Excellent page, I will be checking back often to find up-grades.
From it's all about humanity

Anju (Anu) Chaudhary said...

सभी को शुभकामनाएँ

उड़ता पंछी said...

बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं हीर जी....

Rajput said...

बहुत बहुत हार्दिक बधाई हीर जी.
शुभकामनाएं..

अरूण साथी said...

bahut bahut shubhkamnaye

जयकृष्ण राय तुषार said...

नया ज्ञानोदय में आपकी बहुत अच्छी कवितायें पढ़ने को मिलीं |

हरकीरत ' हीर' said...

तुषार जी पत्रिकाएँ बहुत पढ़ते हैं आप ....:))

आशा जोगळेकर said...

बधाई आपको भी और रचनाकारों को भी ।

निर्मला कपिला said...

काश कि मै भी इस मे शामिल होती। आजकल अद्जिक सक्रिय न रहने से सब कुछ पीछे घूट गया है। इस प्रकाशन के लिये आपको बहुत बहुत बधाई।

हरकीरत ' हीर' said...

निर्मला जी मैंने तो सभी से कई कई बार रचनायें मांगी थी ...जो क्षणिकाएं नहीं लिखते थे उन्होंने भी लिखी आप कैसे रह गईं पता नहीं ....
खैर एक और पत्रिका का संपादन कर रही हूँ जल्द ही आपसे संपर्क करती हूँ ....

उपेन्द्र नाथ said...

बहुत बधाई एवं शुभकामनायें

Ashwini Kumar said...

शुक्रिया

आनंद कुमार द्विवेदी said...

अरे कितनी मिठाई खाओगे आप हीर जी हद है ...मुझे सबसे बाद में भेजना पत्रिका और २०० डिब्बे मिठाई में से १९९ आप रख लेना और १ मुझे भेज देना पत्रिका के साथ :)

manu said...

इन नामों वाली लिस्ट में मैं तो नहीं हूँ न..?

हरकीरत ' हीर' said...

मनु जी मैंने आपको शामिल करने की कितनी कोशिश की पर आप तो नाराज़ हो गए ...
मुझे भी दुःख है मैं अपने इस अज़ीज़ मित्र को शामिल नहीं कर पाई ....हालांकि मैंने अर्श और दर्पण तक भी संदेशा पहुँचाया था पर वहां से भी रचनायें नहीं आयीं ....

manu said...

मैं कब..किधर नाराज हुआ जी..??

शायद क्षणिकाओं को समझने की कोशिश भर की थी मैंने तो... नहीं समझ पाया तो बात खत्म

:)

मैं तो वैसे ही पूछ रहा था कि इस लिस्ट में मेरा नाम तो नहीं है ना..
:)

Aditi Poonam said...

आपको हार्दिक बधाई और शुभ-कामनाये

Aditi Poonam said...

आपको हार्दिक बधाई और शुभ-कामनाये

RAJWANT RAJ said...

behad shandaar visheshank .
ghar vapis aai to use hatho me lete hi sari thkan udanchhoo ho gai . bhut sare blog mitro ko our kai mhan hastiyon ko usme ek sath dekh kr aapki mehnat ko slaam krne ka dil kiya hai . is gauravshali aank ka hissa bnane ke liye bhi bhut bhut shukriya . aajkal paintings pr kam kr rhi hu isliye blog pr skriyta km hai mgr pdhti jroor hu .ptrika ke rekhankan bhi bhut achchhe lge . punh bhut bhut bdhai .

हरकीरत ' हीर' said...

शुक्रिया राजवंत जी .....
sach इस तरह के अंकों में छपना ही बहुत बड़ी बात हो जाती है ...
इस लिए मैंने बहुत सी क्षणिकाओं को सुधार कर भी इसमें शामिल किया ताकि सभी के नाम आ सकें .....

Reena Maurya said...

आप सभी को बहुत - बहुत बधाई
शुभकामनाएँ....
:-)

shobha rastogi shobha said...

manniy karkirat ji
naman
aapne meri kshnikaon ko bhi sthan diya ..abhari hoon ..patrika abhi tak nahi mili hai ...anandsuman ji se pata chala ki aapse gujarish karoon . sahejniy ank hai ..pl. mujhe bhi ise rakhne ka adhikar de.

nilesh mathur said...

बधाई और बहुत बहुत शुभकामना।