Saturday, January 29, 2011

अदब के मुकाम........


ज मैं ....इस अदब के सफ़र में जिस मुकाम पे हूँ उसमें से कुछ खुशगवार पल आपसे साँझा करना चाहती हूँ .....कुछ ही दिनों पहले मुझे सुमन पाटिल जी की ये मेल मिली .....

हरकीरत जी नमस्ते !
यहाँ हैदराबाद शहर में हिंदी अख़बार निकलता है-- हिंदी मिलाप डेली आजके अख़बार में,
आपके बारे में, आपकी रचनाओंके बारे में : कुछ भीगे अक्षर नाम ,के शीर्षक में छपा है !
आप अंदाजा नहीं लगा सकती मुझे इतनी ख़ुशी हुयी पढ़कर,खैर बहुत बहुत बधाई !

मैंने सुमन जी को उस अखबार की प्रति भेजने का आग्रह किया ....उन्होंने स्कैन करके वो कटिंग भेजी है ...किन्हीं ऍफ़.एम.सलीम जी की लिखी हुई ...(सलीम जी कभी अगर ये पोस्ट पढ़े तो मुझसे जरुर संपर्क करें ....) इससे पहले भी अरविन्द श्रीवास्तव जी 'कथादेश' पत्रिका में मेरे ब्लॉग का ज़िक्र कर चुके हैं जिसकी मैं कटिंग न रख सकी थी .....
स्कैन की प्रति संलग्न है .....


दूसरी खुशी की बात ये है कि 'सरस्वती सुमन' (प्र. संपा. आनंद सुमन ) पत्रिका का एक अंक 'क्षणिका विशेषांक' होगा जिसकी अतिथि-संपादक मैं रहूंगी ...

इससे पहले जनवरी का ग़ज़ल विशेषांक इस वक़्त आपके हाथों में होगा जिसके अतिथि संपादक दानिश-भारती जी ( मुफलिस जी ) रहे हैं ...कुशल संपादन के लिए उन्हें हार्दिक बधाई ...बेतरीन गजलों का संचय पढ़ने को मिला उनके अधिकृत ।

अगला अंक महिला-विशेषांक है ...उससे अगला लघुकथा विशेषांक होगा ...और उससे अगला जितेन्द्र जौहर जी के संपादन में मुक्तक विशेषांक ।

हालांकि क्षणिकाएं भी मुक्तक की ही श्रेणी में आती हैं लेकिन हम छंद
मुक्त लिखी गई लघु नज्मों को ही क्षणिकाओं में शामिल करेंगे .

इस बीच ब्लॉग जगत में कुछ बेहतरीन क्षणिकाएं पढ़ने को मिली हैं ...अत : आपसब से गुजारिश है कि अपनी कलम को कुछ मीठा ...तीखा और खिलाना शुरू करें
ताकि आपकी सृजन -कला प्रतिभा और उन्मुख हो कर सामने आये ....और फिर उसे अपने चित्र और संक्षिप्त परिचय के साथ भेज दीजिये निम्न पते पर .....

आप मेल भी कर सकते हैं .....


हरकीरत 'हीर'
१८ ईस्ट लेन , सुन्दरपुर
हॉउस न . ५ , गुवाहाटी-७८१००५
harkiratheer@yahoo.in

86 comments:

'साहिल' said...

इन उब्लप्धियों के लिए आपको बहुत बहुत बधाई !

संजय भास्कर said...

आपको बहुत बहुत बधाई !

संजय भास्कर said...

बहुत बहुत बधाई !

डॉ टी एस दराल said...

हीर जी , अखबार में आपके बारे में प्रकाशित खबर के बारे में जानकर अति प्रसन्नता हुई ।
हालाँकि यह सूरज को दिया दिखाने जैसा है ।
आपकी काव्य कला अद्भुत है । बहुत बहुत बधाई ।

आपको संपादक का काम दिया गया है । यह तो जानकर और भी अच्छा लगा ।
चलिए अब तो हम भी क्षणिकाएं लिखने का प्रयास करते हैं ।

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

aapko badhai..

संजय भास्कर said...

आदरणीय हरकीरत 'हीर'जी
नमस्कार !
आपको संपादक का काम दिया गया है । यह तो जानकर और भी अच्छा लगा ।
.....मन इतना प्रसन्न हुआ की बयाँ नहीं कर सकता

cmpershad said...

‘.किन्हीं ऍफ़.एम.सलीम जी की लिखी हुई ...(’

आप को बता दें कि एफ़. एम. सलीम कलम के धनी हैं और मिलाप में हर सप्ताह एक कवि के बारे में साप्ताहिक कविता पृष्ठ पर देते हैं। कवियों के अलावा वे नाटक, कला आदि पर भी अपने लेख मिलाप में देते हैं। डेली हिंदी मिलाप, कट्टलमण्डी, हैदराबाद -५०० ००१ के पते पर आप उनसे सम्पर्क भी साध सकती हैं। बधाई स्वीकारें:)

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

बहुत बहुत बधाई ....सूचना के लिए आभार

sagebob said...

आप की काव्य प्रतिभा को मंजिलों की जरूरत नहीं, हाँ मंजिलें आप की नज्मों का पता जरूर पूछती हैं.
बहुत ही शुभ कामनाएं.

राज भाटिय़ा said...

हरकीरत 'हीर'जी इन सब उपल्व्धियो के लिये आप को बहुत बहुत बधाई,

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार said...

हीर जी
नमस्कार !

अतिथि-संपादक !
वाह ! एक और नया रूप ?!
क्या बात है … भई क्या बात है !!

सदैव फलो - फूलो ! ( वैसे स्लिम-ट्रिम रहें )
ख़ुशियों के झूले पर झूलो !
ज़िंदगी में हर कहीं तरक़्क़ी आपके क़दम चूमे !
अजी चिंता - फ़िक़्र छोड़ो , ग़मों को भूलो !!


:) :) :) थोड़ी देर हंस लीजिए… हा हा हा …

और इस घटिया सी तुकबंदी में छुपी हमारी हार्दिक शुभकामनाएं स्वीकार कीजिएगा !

शुभकामनाओं सहित

- राजेन्द्र स्वर्णकार

kasmakash said...

ढेर सारी बधाईयां...संपादित अंश का इंतजार है..

ललित शर्मा said...

वाह जी, बड़ी अच्छी खबर है।
अब हम भी कीबोर्ड को घी पिलाते हैं।
एक अरसा हो गया कविताओं पर हाथ आजमाए।
अब सुबह से ही कीबोर्ड खटखटाते हैं।

तुहानु लख-लख बधाईयाँ जी बधाईयाँ

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

हार्दिक बधाई आपको.... शुभकामनायें

प्रवीण पाण्डेय said...

उपलब्धियों की बधाई का आनन्द और अधिक लेखन की आस भी।

शिखा कौशिक said...

bahut bahut shubhkamnaye .

Sonal said...

congrats .. kash hume bhi koi kavita publish karwane ka process bata de ,, :(
Ghost Matter :
How To Call A Real GHost???
Hindi Songs Music Blog :
Download All Music (Songs) For Free

Coral said...

हार्दिक बधाई एव शुभकामनायें हरकीरतदी, मेरी पिछली पोस्ट पर आपकी टिप्पणी के लिए शुक्रिया ... मै जल्द ही अपना फोटो ब्लॉग पर लगाऊंगी पर फिलहाल इन्द्रनीलजी ने बड़ी मेहनत ली है इस स्टेंसिल को बनाने में सो कुछ दिन ...

------------
बस एक और हो जाये ....

कौशलेन्द्र said...

सुन्दरपुर वाली अतिथि संपादिका जी को लख-लख बधाइयाँ जी .......!

चैन सिंह शेखावत said...

hardik badhai harkeerat ji...
shubhkamnaen...

Ravi Shankar said...

बहुत बहुत बधाई,हीर जी।

Kunwar Kusumesh said...

हिंदी मिलाप में आपका छपना तथा सरस्वती सुमन के क्षणिका विशेषांक में आपका अतिथि संपादक होना सुखद है. आपकी उन्नति और प्रगति आपकी योग्यता की परिचायक तो है ही साथ ही आपके अच्छे स्वभाव का परिचायक भी है.आपको हार्दिक बधाई,हीर जी.

हरकीरत ' हीर' said...

अरे ,,,,,चन्द्रमौलेश्वर जी ....
मैं तो भूल ही गई आप भी हैदराबाद के हैं ....
पर आपने हमसे इस बात का ज़िक्र न किया
अरे छोटी ही सही ....ख़ुशी की बात तो थी ही ....
पता देने के लिए शुक्रिया ....
ख़त लिखूंगी सलीम जी को ....

Suman said...

harkirat ji,patrika sampadan ke liye anek shubh kamanaye..
meri bheji hui kating blog par dalkar apne bahut achha kiya. chandra mouleshvar ji ne jo pata diya hai milap ka aap uspe samprk kar sakti hai.....

स्वप्निल कुमार 'आतिश' said...

bahut bahut badhaayi aapko in uplabdhiyon ke liye....aur badi baat ye hai ki aap inki haqdaar bhi hain... :) atithi sampadak bani hain aap uske liye dher saari shubhkamnayen hain meri ...sheeghr hee kuch kshanikaayen aap ko mail karunga... :)

saadar

jamos jhalla said...

vadhaaiyaan+mubarakaan+congratuleshanaa

manoj said...

आप तो सारे हिंदुस्तान के अखबारों में छपने योग्य हैं ...

इस लब्धि के लिए बहुत-बहुत बधाइयाँ स्वीकार करें और सरस्वती-सुमन के अतिथि संपादक होने पर भी हमारी शुभकामनाएँ स्वीकार करें ।

Meenu Khare said...

बहुत बहुत बधाई !

Poorviya said...

आपको बहुत बहुत बधाई

mahendra verma said...
This comment has been removed by the author.
mahendra verma said...

आपकी उपलब्धियों से मुझे खुशी हुई है।
आपको बहुत-बहुत बधाई।
इसी तरह निरंतर लिखती रहें...शुभकामनाएं।

neera said...

खुशियाँ बांटने का शुक्रिया ... वो कई गुणा हो गई... :-)

सैयद | Syed said...

आपको हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं :)

vedvyathit said...

aap kee uplbdhi mere hrsh ka vishy hai meri bdhai swikar kren v aap nirntr sahity srijn v sadhna me rt hain is hetu bhi sadhuvad swikaren
mhila vishank ke liye do rchnayen aap kee seva me peshit kr rgha hoon sneh milega hi
dr. ved vyathit

Ravi Rajbhar said...

aapki uplabdhi ham sabhi ke liye bahut garv ki baat hai.

ham bahut door hai ..aap ka moh mitha nahi kara sakte.

par koti-2 badhai.

दिगम्बर नासवा said...

बधाई बधाई बधाई आपको बहुत बहुत बधाई ....

amar jeet said...

बहुत बहुत बधाई !

shikha varshney said...

बहुत बहुत बधाई आपको..आप आसमान छुए यही दुआ है.

Avinash Chandra said...

आपको ढेर सारी बधाईयाँ

ehsas said...

सच में बधाई के पात्र है। मेरी तरफ से भी बधाई स्वीकार करें।

सुमन'मीत' said...

बहुत बहुत बधाई .....

Harsh said...

bahut khoob.........

रश्मि प्रभा... said...

badhaai

रचना दीक्षित said...

आप को बहुत बहुत बधाई

Dilbag Virk said...

aapki uplabdiyon ke lie aapko bhut-bhut badhai .
sarswati suman ke lie kshnikaen bhejne ki antim tithi btaen . kya hiku ko jagh milegi ? kripya btaen.

वन्दना said...

आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
प्रस्तुति भी कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
कल (31/1/2011) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
अवगत कराइयेगा और हमारा हौसला बढाइयेगा।
http://charchamanch.uchcharan.com

daanish said...

bahut bahut
b a d h a a e e e e e !!
aur
ab aapse "kshanikaaeiN"
likhnaa/kehnaa
bhi to seekhnaa hai........ !!!
soch rahaa hooN
sifaarish kiski kaam aa paaegiiiii

हरकीरत ' हीर' said...

नहीं दिलबाग जी ये तो क्षणिका विशेषांक होगा....
आप हाइकू यहाँ भेज सकते हैं ......

'अविराम' त्रैमासिक संकलन
संपा. उमेश म्हादोशी
ऍफ़ -४८८/२,गली सं. ११
राजेन्द्र नगर ,रूडकी
जनपद-हरिद्वार (उत्तराखंड )
फोन ०१३३२-२६०९६९,९४१२८४२४६७
मेल - umeshmahadoshi@gmail.com

हरकीरत ' हीर' said...

आदरणीय मुफलिस जी ,

आपको तो लिखनी ही है ...
मैंने जो आपके अंक लिए ग़ज़ल लिखी ....
और हाँ आपका आशीर्वाद भी चाहिए ....

दर्शन कौर धनोए said...

हरकिरत ji इस महान उपलब्दी पर आपको बहुत -बहुत शुभकामनाए | वाहेगुरु आपको चडदीकला बक्शे --|

वन्दना अवस्थी दुबे said...

बधाई बधाई बधाई.

S.M.HABIB said...

आदरणीय हीर जी,
सादर नमस्कार, बधाई और अनंत शुभकामनाएं....

क्षितिजा .... said...

हीर जी ... मेरी और से बधाई स्वीकार करें ... शुभकामाएं

जयकृष्ण राय तुषार said...

aadarniya harkiratji bahut bahut badhai shayar nida fazli ka ek sher hai,meri aavaj gar is shor me dub jayegi.meri khamoshi bahut dor sunai degi.ab aapki khamoshi bahut dor tak sunai de rahi hai.shubhkamnayen

वाणी गीत said...

बहुत बहुत बधाई ...!

संजय कुमार चौरसिया said...

इन उब्लप्धियों के लिए आपको बहुत बहुत बधाई !
शुभ कामनाएं.

saanjh said...

oh wow....awesome heer ji....congratulations :)

sada said...

एक साथ इतनी सारी खुशखबरी !! आपको बहुत- बहुत बधाई के साथ शुभकामनायें ...।

शारदा अरोरा said...

अदब के मुकाम , बड़ा सुन्दर है ये शीर्षक , अदब की ही तरह लुभावना , बधाई स्वीकार करें ..

कविता रावत said...

इन उब्लप्धियों के लिए आपको बहुत बहुत हार्दिक शुभमामना! खुशियाँ बाँटने से दुगुनी हो जाती हैं .. आपने हम सबसे साथ अपनी ख़ुशी शेयर की बहुत ही अच्छा लगा.. इसमें कोई संदेह नहीं की आप बहुत ही उत्कृष्ट मन को छू जाने वाली और मन को सोचने के लिए मजबूर करती हैं

उपेन्द्र ' उपेन ' said...

हीर जी , दैनिक हिंदी मिलाप पुरे दक्षिण का हैदराबाद से निकालने वाला सबसे बड़ा हिंदी अख़बार है . ये तो बहुत ख़ुशी की बात है. .........बहुत बहुत बधाई आपको इस उपलब्धि के लिये.

हरकीरत ' हीर' said...

शुक्रिया उपेन्द्र जी इस जानकारी के लिए ....
हाँ अगर ये सम्मान मेरे शहर ने मुझे दिया होता
तो अधिक खुशी होती....

दीपक बाबा said...

आपको इस उपलब्धि के लिये बहुत बहुत बधाई

इमरान अंसारी said...

हीर जी,

बधाई आपको......आप ऐसे सम्मान की हकदार है......हुनर को इज्ज़त मिलती ही है आज नहीं तो कल.......खुद आपको सफलता के ऊँचे मुकाम तक पहुंचाए.....आमीन|

ज्योति सिंह said...

aap to iski haqdaar hai ,main ek patrika leti hoon jisme aapki rachna chhapi hui rahi aur main use padhkar bahut garv mahsoos ki aur vandana ko bhi dikhai ,aesa laga mano kisi apne ki rachna likhi rahi .aap bahut hi achchha likhti hai ,manjil aapke kadmo me hai ,aap har mukaam haasil kare hamari shubhkaamnaaye sada aapke saath hai .is uplabdhi ke liye dhero badhai .

ज्योति सिंह said...

'adab ke mukaam 'shirshak man ko bha gaya .dhero badhai .

नीरज गोस्वामी said...

अनूठा ग़ज़ल विशेषांक पढने को मिला है, मुफलिस साहब की जितनी तारीफ़ की जाए कम है.....क्षणिका विशेषांक के लिए अग्रिम बधाई स्वीकारें...
नीरज

हरकीरत ' हीर' said...

ज्योति जी कौन सी पत्रिका थी ...?
मैं तो बहुत कम भेजती हूँ कहीं कोई मांगे तो ही ....
किसी ने ब्लॉग से ले ली होगी ....
अभी उमेश महादोषी जी ने भी बताया
किसी साप्ताहिक समाचार पात्र में मेरी रचनायें छपी हैं ...

ज्ञानचंद मर्मज्ञ said...

आप को ढेरो बधाई !
मुझे पूरा विश्वास है कि आपके कुशल संपादन में सरस्वती सुमन का 'क्षणिका अंक, नये कीर्तिमान स्थापित करेगा !
शुभकामनाओं सहित !
-ज्ञानचंद मर्मज्ञ

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " said...

आदरणीया हीर जी ,
बहुत-बहुत बधाई और हार्दिक शुभकामनायें |

डॉ टी एस दराल said...

हरकीरत जी , मुक्तक के बारे में तो पता है । लेकिन मुक्त छंद क्या होता है , कृपया यह भी बताएं ।

हरकीरत ' हीर' said...

आदरणीय दराल जी ,

मैं गलत लिख गई थी ...छंद मुक्त रचना ...
जो हर प्रकार के बन्धनों से मुक्त हो ....
जो वर्ण मात्रा की गिनती के विचार से न लिखी गई हो ...
इसकी सबसे बड़ी शक्ति होती है कल्पना की समाहार शक्ति
और भाषा की समास शक्ति तथा बिम्ब ....
यूँ तो दोहा , साखी ,रुबाई, शे'र ,हाईकू, चौपदी,प्रगीत , क्षणिकायें सभी मुक्तक का ही अंश हैं ...
लेकिन हम यहाँ स्थान देंगे उन छोटी रचनाओं को जो अपनी कद-काठी में छोटी होते हुए भी
गागर में सागर भरने का काम करे ....
कहने का मतलब है कि भावों में इतनी तीव्रता हो कि पाठक के मन में सीधा घर कर जाये ....

Parul said...

bahut bahut badhai...par aap is se kahin jyada deserve karti hai...meri shubhkanayen hai!!

Sunil Kumar said...

hamre shahr men aap aur hamko hi malum nahi , is samman ke liye badhai

देवेन्द्र पाण्डेय said...

मेरी भी बधाई स्वीकार करें..

डॉ० डंडा लखनवी said...

इन सब उपल्व्धियो के लिये आप को बधाई!
मंगल कामना के साथ.......साधुवाद!
सद्भावी- डॉ० डंडा लखनवी

CS Devendra K Sharma "Man without Brain" said...

badhaai

Avinash Chandra said...

जी, इस रविवार तक जरा बाहर हूँ, लौटते ही भेजने का यत्न करूँगा. इस योग्य समझने के लिए आपका आभार.

: केवल राम : said...

आदरणीया हरकीरत 'हीर' जी
सादर प्रणाम
एक साथ कई खुशखबरियां साँझा के लिए आपका बहुत -बहुत आभार ....आपको बहुत- बहुत बधाई ...आपकी लेखनी यूँ ही अनवरत रूप से हम सबको अनुग्रहित करती रहे यही कामना है ..यही शुभकामना है ....देरी के लिए क्षमा प्रार्थी हूँ

अभिषेक मिश्र said...

इन उपलब्धियों के लिए बधाई. आप असम में हैं और मैं हाल ही में अरुणाचल से लौटा हूँ, जहाँ रहते हुए असम अक्सर आना-जाना होता ही रहता था.

G.N.SHAW said...

bahut-bahut badhai.

आशीष/ ਆਸ਼ੀਸ਼ / ASHISH said...

:)
Ashish

' मिसिर' said...

आपको सफलताओं की सीढ़ियों पर चढ़ते देखना -
सुखद है ! वस्तुतः यह जीत उन रचनाओं की है जिन्होंने
अभिव्यक्ति के लिए आपको माध्यम रूप में चुना !
और चुना भी तो इस लिए की आप में पात्रता है !
सो, बधाई !

बी एस पाबला said...

बधाई जी!

कथादेश का वह लेख यहाँ है

बाकी कुछ और देखना हो तो यहाँ देखिए

हरकीरत ' हीर' said...

शुक्रिया पाबला जी ये लिंक देने के लिए .......

k.joglekar said...

aaj bahut dine baad aapka blog dekha, aapki uplabdhiyo ke liye badhaiyan.